Sum Assured क्या है. Sum Assured Meaning in Hindi. Insurance Policy में Sum Assured kya hota hai. यदि आप सम एश्योर्ड के बारे में कुछ जानना चाहते है. तो इस लेख को अंत तक जरुर पढ़े. इस (What is Sum Assured?) की लेख में हमने सम एश्योर्ड से सम्बंदित सभी जानकरी को कवर करने की कोशिश की है..

आपने कई बार Sum Assured के बारे में सुने होंगे. Insurance Policy की Bond में सम एश्योर्ड के बारे में भी बताया गया है. Life Insurance को लेकर कई बार सम एश्योर्ड के बारे में देखने या सुनने को मिलता है. आखिर ये Sum Assured Kya Hai.

चलिए आज सम एश्योर्ड के बारे में थोड़ी गहराई से समझते है. Sum Assured कितने प्रकार के होते है. सम एश्योर्ड के Benefits क्या है. Insurance Policy में सम एश्योर्ड का क्या Role है. कितना सम एश्योर्ड लेनी चाहिए और भी कई सवाल है.

Sum Assured Meaning in Hindi

Sum Assured का 3 Hindi Meaning है. पहला Sum Assured का Hindi Meaning है “सुनिश्चित राशि”. और दुसरा सम एश्योर्ड का मतलब है “बीमित राशि” या “बीमाकृत राशि”.

Sum Assured क्या है. What is Sum Assured?

यह Insurance की Value है. सम एश्योर्ड यह दर्शाता है की आपका Insurance कितने रुपये का है. Sum Assured का अर्थ है बीमित राशि मतलब जब कोई Insurance Policy खरीदता है तो बीमा कंपनी Policy Holder को एक सम एश्योर्ड निश्चित करता है.

What is Sum Assured
What is Sum Assured?

सम एश्योर्ड से पता चलता है की आपका इन्सुरांस कवर कितना है. सम एश्योर्ड Digit में होते है. जैसे Min. 1,00,000/-  से Unlimited होते है. आपको कितने की बीमा कवर मतलब सम एश्योर्ड लेनी है ये बीमा कंपनी तय करती है.

सम-एश्योर्ड या बीमित राशि वह राशि है जो किसी भी बोनस को जोड़ने से पहले बीमा कंपनी पॉलिसी देने की गारंटी देती है. तथा सम एश्योर्ड वह राशि है जो मृत्यु होने पर नॉमिनी को बीमा कंपनी प्रदान करेगी.

जब कोई भी Insurance Policy खरीदता है तो उस बीमा का Cover एकमात्र सम एश्योर्ड से ही समझा जाता है की कितना रुपये का या कितना का Life Coverage है.

Basic Sum Assured VS Death Sum Assured क्या है.

सम एश्योर्ड दो तरह के होते है. पहला है Basic Sum Assured जो सभी बीमा योजना में रहता है. और दुसरा है Death Sum Assured जो किसी एक प्लान में ही मिलता है.

Death Sum Assured हमेशा ज्यादा रहता है Basic Sum Assured के मुकाबले. जैसे Basic सम एश्योर्ड है 100% तो Death सम एश्योर्ड होगा 125%. यदि प्लान में Death Sum Assured है तो बीमाकृत व्यक्ति की मृत्यु होने पर Nominee को Death Sum Assured ही मिलेगा.

और यदि प्लान में Death Sum Assured नहीं है. तो नॉमिनी को Basic Sum Assured मिलेगा. लेकिन ऐसा नहीं है की Death Sum Assured हमेशा ज्यादा ही रहेगा. यह प्लान के अनुसार ही होता है.

Death Sum Assured उस राशि को बोला जाता है जो बीमाकृत व्यक्ति की मृत्यु होने पर नॉमिनी को प्रदान करेगी.

Sum Assured in Hindi से जुड़ीं बाते

  1. किसी कारन वजह से यदि पालिसी होल्डर की मृत्यु हो जाती है तो सम एश्योर्ड ही वह राशि है जो नॉमिनी को बीमा कंपनी प्रदान करती है.
  2. बीमा Policy की Maturity में जो भी Bonus मिलता है. यह एकमात्र सम एश्योर्ड के हिसाब से Poilcy में Bonus जोड़ा जाता है.
  3. सम एश्योर्ड ही है जिसे बीमित राशि, कवर (Cover) या कवरेज (Coverage) राशि कहा जाता है. यही वह कुल राशि है जिसके लिए एक व्यक्ति अपना बीमा कराता है.
  4. सम-एश्योर्ड पालिसी होल्डर की आय (Income) पर निर्भर करता है. अधिकतम सम-एश्योर्ड बीमाधारक की वार्षिक आय के 10 गुना में रखा गया है.
  5. सम एश्योर्ड के आधार पर ही जीवन बीमा के प्रीमियम (Premium) का निर्धारण होता है जिसका असर बीमा धारक पर बीमा की अवधि के दौरान रहता है.

सम एश्योर्ड कितना ले सकते है.

ऐसा नहीं है की कोई भी अपनी अनुसार बीमा कवर ले ले. आप अधिकतम कितना सम एश्योर्ड मतलब बीमा कवर ले सकते है यह Insurance Company तय करती है. वैसे आपकी वार्षिक आय के 10 गुना माना जाता है. पर ये बीमा कंपनी ही सुनिश्चित करता है.

इसके लिए हो सकता है बीमा कंपनी आपसे आपका Income Proof मांगे. पिछले तिन साल का. यदि छोटी सम एश्योर्ड की बात करे तो यह लेना इतना कठिन नहीं है.

सम एश्योर्ड कितना लेनी चाहिए,

इतना बीमा कवर तो होनी चाहिए जिससे आपके ना रहने पर आपका परिवार कुछ साल तक Survive कर सके. वैसे अधिकतम Sum Assured कितना ले सकते है ये तो आपका कमाई पर निर्भर है और यह बीमा कंपनी ही तय करती है.

पर आपका जो भी Income है उसका 10 से 15 गुना बीमा कवर होनी चाहिए. जैसे आपका वार्षिक आय है 5 लाख तो इसका 10 गुना 50 लाख होता है.  यदि 50 लाख सम एश्योर्ड से बीमा खरीदते है तो आपका बीमा कवर 50 लाख रहेगा.

आपका ना रहने पर आपके परिवार को यह बीमित राशि बीमा कंपनी प्रदान करेगी. इतना पैसा मिलने के बाद आपका परिवार कुछ साल तो आसानी से जी सकता है.

इस बिच में आपका परिवार में कोई ना कोई पैसा कमाने वाला खड़ा हो ही जाएगा. और फिर आपका परिवार में पैसा आना शुरू हो जाएगा.

Sum Assured में Bonus कैसे जोड़ा जाता है.

जब आप Insurance Coverage लेते है. जब आप Sum Assured लेते है. मान लीजिये आपने  5,00,000/- रुपये का सम एश्योर्ड लिया है या Insurance खरीदा है.. अब Insurance Company इस सम एश्योर्ड का जो भी Premium आएगा उसका Bonus नहीं देगा.

क्युकी बीमा कंपनी Policy में निवेश किया हुआ पैसा का Bonus या Interest नहीं देता है. आपने जो सम एश्योर्ड लिया है उसका Bonus देता है.

बीमा कंपनी हर 1000/- का Bonus देता है. जैसे 1000/- का Bonus 40 रुपये तो आपने जो 5,00,000/- सम एश्योर्ड लिया है इसमें कितना हजार है. 5,00,000/- में 500 हजार आता है.

तो 500×40=20,000/- हुआ Total एक साल का Bonus. बीमा कंपनी हर साल Bonus जोड़ता है Policy में. जैसे अभी बताया हमने 20,000/- रुपये Bonus हुआ एक साल का.

इस तरह Policy में बोनस जोड़ा जाता है. और यह सम एश्योर्ड के ऊपर ही निर्भर होता है. जितना ज्यादा सम एश्योर्ड है उतना ज्यादा Bonus मिलता है और उतना Insurance Cover भी रहता है.

Bonus Rate हर साल बदलता रहता है और यह बीमा कंपनी की Performance पर निर्भर करता है. अभी हमने Example के लिए 40 रुपये ले लिया है.

Policy में जो भी Bonus जोड़ा जाता है वह सब एक साथ Maturity में मिलता है. Bonus को आप देख सकते है Policy में पर Withdraw नहीं कर सकते है. Policy Maturity होने पर ही आपको मिलेगा.

Insurance Policy में सम एश्योर्ड का Role क्या है.

एक बीमा पालिसी में Sum Assured का बहुत बड़ी रोले है. सम एश्योर्ड पर ही सब कुछ निर्भर है. बीमा कवर से लेकर Maturity तक. आप अपने परिवार के लिए कितना आर्थिक सहायता देना चाहते है यह सम एश्योर्ड ही दिखाता है.

यदि आपने कोई बिमा पालिसी लिया हुआ है तो एक बार जरुर ये देखे की आपके ना रहने पर आपके परिवार को कितना मिलेगा. हो सकता है आप निश्चिंत है इस बारे में की बीमा तो करवा लिया है. पर फायदा क्या है सिर्फ एक लाख का बीमा करवाके.

यह निश्चिंत कर ले की आप अपने परिवार को कितना सम एश्योर्ड से सुरक्षित रखना चाहते है. आखिर सम एश्योर्ड ही तो है जो आपके परिवार को मिलने वाला है. हो सके तो Term Insurance के बारे में जरुर पढ़े.

Accident Death Rider सम एश्योर्ड क्या है.

यदि आपका बीमा पालिसी में Accident Death Benefit है तो आपको और एक Insurance Coverage मिल जाता है. यानि और एक सम एश्योर्ड मिलता है. ये भी एक Sum Assured है जिसे बीमित राशि कहा जाता है. जो आपको Accident Death के लिए  कवर करता है.

Accident Death Benefit यह एक Rider है जो बीमा Policy में अलग से लेना पढ़ता है. और इस Rider के तहत आपको अलग से और एक Cover मिलता है, जो Accident Death के लिए है. इस Rider की होते हुए यदि Accident से  Death हो जाता है तो Nominee को डबल बेनिफिट मिलता है.

पहला Death Benefit मिलता है Basic सम एश्योर्ड या Death सम एश्योर्ड और दूसरा है की Accident से Death हुआ है इसलिए Accident Death सम एश्योर्ड भी मिल जाता है.

Term Rider का सम एश्योर्ड क्या है.

ये भी एक Rider है जो Insurance Policy की Cover को बढ़ा देता है. इस Rider को लेने से सिर्फ और सिर्फ Insurance Cover यानि सम एश्योर्ड ही मिलता है. इसका लेना मतलब आपने सम एश्योर्ड खरीदा है. पर आपने जितना Basic सम एश्योर्ड लिया है उससे ज्यादा Term Rider का सम एश्योर्ड नहीं ले सकते है.

यदि Policy में Term Rider लिया हुआ है और Policy Holder की Death हो जाता है तो Nominee को टर्म राइडर का भी बेनिफिट मतलब Death Benefit में Term Rider का सम एश्योर्ड मिलता है. लेकिन इसके लिए भी प्रीमियम भुगतान करना होता है.

निष्कर्ष

Sum Assured क्या है. Sum Assured का हिंदी Meaning क्या है. और सम एश्योर्ड से सम्बंधित और भी कई बाते जो हमने इस आर्टिकल में चर्चा की है. मुझे आशा है की इस लेख ले द्वारा आपको सम एश्योर्ड के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी मिल गया है.

यदि सम एश्योर्ड को लेकर कोई भी सवाल है तो Comment में जरुर पूछे. और इस तरह की नई पोस्ट की Update Notification पाने के लिए हमे Subscribe जरुर करे.

आपको ये भी पढ़नी चाहिए 

यदि आपको Sum Assured की जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर जैसे Facebook, Twitter या Whatsapp पर शेयर जरुर करे.

3 COMMENTS

  1. अपने बहुत ही अच्छी जानकारी साँझा की है आपके इस पोस्ट को पढ़कर बहुत अच्छा लगा और इस ब्लॉग की यह खास बात है कि जो भी लिखा जाता है वो बहुत ही understandable होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here