इस आर्टिकल पर हम Essay on Pandit Jawaharlal Nehru In Hindi पंडित जवाहर लाल नेहरू पर हिंदी में निबंध लिख रहे है जिन्हें पढ़कर कोई भी पंडित जवाहर लाल नेहरू के बारे में जान सकता है. यदि आप किसी विषय पर निबंध पढ़ना पसंद करते है. तो आज की लेख में आप पंडित जवाहर लाल नेहरू पर निबंध पढ़े.

Jawaharlal Nehru - prime minister-essay-hindi

पंडित जवाहर लाल नेहरू निबंध – Essay on Pandit Jawaharlal Nehru In Hindi

पंडित जवाहर लाल नेहरू (Pandit Jawaharlal Nehru) भारत के महान नेता थे. उन्होंने देश को स्वतंत्र कराने में अपना पूरा जीवन लगा दिया. वे भारत के प्रथम प्रोधनमंत्री (India’s First Prime Minister) बने. आजादी के बाद उन्होंने देश को प्रगती के पथ पर आगे बढ़ाया.

जवाहर लाल नेहेरुजी का जन्म 14 नवम्बर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था. उनके पिता स्वर्गीय मोतीलाल नेहरु एक नामी वकील थे. नेहरूजी प्राथमिक शिक्षा प्राप्त करने की बाद उच्च शिक्षा के लिए इंग्लैण्ड गए.

वहाँ से वे बैरिस्टरी पास कर भारत लोटे और इलाहाबाद में ही वकालत करने लगे. उनका विवाह कमला नेहरू से हुआ था.

उन दिनों भारत पर अंग्रेजों का शासन था. नेहरूजी ने देश स्वतंत्र करने का निश्चय किया. वे काँग्रेस के सदस्य बन गए. गाँधीजी के आह्वान पर वकालत छोड़कर वे देश सेवा करने लगे.

Essay on India’s First Prime Minister Pandit Jawaharlal Nehru In Hindi

गाँधीजी के असहयोग आंदोलन में उन्होंने सक्रिय भूमिका निभाई. वे हमेशा जोशीले भाषण देते थे. इससे उन्हें कई बार जेल जाना पड़ा.

नेहरूजी को कई बार काँग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया. काँग्रेस के लाहौर अधिवेशन में नेहरूजी ने पूर्ण स्वराज्य का प्रस्ताव पास किया. ‘भारत छोड़ो आन्दोलन’ में उन्होंने सक्रीय रूप से भाग लेने के कारण उन्हें जेल जाना पड़ा.

1945 ई. में वे जेल से रिहा किए गए. 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ. नेहरूजी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने. उन्होंने देश के विकास के लिए कई योजनाएँ शुरू की.

पंडित जवाहर लाल नेहरू एक अच्छे लेखक भी थे. ‘भारत की खोज’ तथा ‘विश्व इतिहास की झलक’ उनके प्रसिद्द ग्रन्थ हैं.

उन्हें बच्चों से बड़ा प्रेम था. बच्चे प्यार से उन्हें ‘चाचा नेहरु’ कहते थे. इसलिए 14 नवम्बर को उनका जन्म दिन ‘बाल दिवस’ ‘Children’s Day’ के रूप में मनाया जाता है. 27 मई 1964 को उनका निधन हो गया.

नेहरूजी मर कर भी अमर हैं. उनका आदर्श महान है. हमलोग उन्हें शांतिदुत के रूप में जानते हैं.

निष्कर्ष

इस लेख में हमने जवाहरलाल नेहरू पर निबंध हिंदी में (Essay on Pandit Jawaharlal Nehru In Hindi) शेयर किया हुआ है. मुझे उम्मीद है की यह निबंध आप जरुर पसंद करेंगे.

यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो कृपया सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जैसे Facebook, Twitter या Whatsapp पर शेयर जरुर करे. नई पोस्ट की Update के लिए Subscribe करना ना भूले.

आपको ये भी पढ़नी चाहिए 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here