इस आर्टिकल पर हम (Essay on Mother Teresa In Hindi)  मदर टेरेसा पर हिंदी में निबंध लिख रहे है जिन्हें पढ़कर कोई भी मदर टेरेसा के बारे में जान सकता है. यदि आप किसी विषय पर निबंध पढ़ना पसंद करते है. तो आज की लेख में आप मदर टेरेसा पर निबंध पढ़े.

Mother Teresa Essay in hindi
Mother Teresa Nibandh

मदर टेरेसा निबंध – Mother Teresa Essay in Hindi

Table of Contents

मदर टेरेसा ममता, दया और करुणा की साक्षात देवी थी. उनका ह्रदय स्नेह एवं सेवा का अथाह सागर था. उन्होंने असंख्य दू:खी एवं असहाय लोगों को सहारा दिया. उन्होंने पुरी दुनिया को अपना परिवार माना. वे लोगों की नि:स्वार्थ सेवा करती थी.

मदर टेरेसा का जन्म 26 अगस्त 1910 ई. को अल्बानिया के एक किसान परिवार में हुआ था. बचपन से ही उन्हें गरीबों की सेवा करने का शौक था.

अत: अपनी शिक्षा पुरी करके वे कलकत्ता आ गई. यहाँ के एक कान्वेन्ट स्कुल में वे नैतिक शिक्षा तथा भूगोल पढ़ाने लगी. वह दिनोदिन अपने कार्य में तरक्की करने लगी.

बाद में उन्हें उसी विधालय की प्रधानाध्यापिका बना दिया गया.

Essay on Mother Teresa 300 Words – मदर टेरेसा हिंदी निबंध

एक बार मदर टेरेसा दार्जिलिंग घुमने गई थी. वहां उन्होंने गरीबों की खराब हालत देखी. उनका कोमल ह्रृदय करुणा से भर गया. वहीं से उन्होंने गरीबों-असहायों की सेवा करने की प्रतिज्ञा की.

कलकत्ता लौटकर वे दीन-दुखियों की सेवा करने लगी. उन्होंने 1948 ई. में भारत की नागरिकता प्राप्त की. कलकत्ता में उन्होंने मिशनरीज आँफ चैरिटीज नामक संस्था खोली.

बाद में बूढ़े एवं असहाय लोगों के लिए ‘निर्मल ह्रृदय’ नामक एक अन्य संस्था की स्थापना की.

इनके अलावा मदर ने अनाथ बच्चो, विधवाओं एवं रोगियों की सहायता के लिए अनेक संस्थाएं खोली. दुनिया के कई देशों में आज भी उनकी ऐसी संस्थाएं कार्यरत हैं.

Short Story on Mother Teresa in Hindi – Essay Hindi Me

मदर टेरेसा की सेवा भावना के कारण उन्हें 1962 ई. में मैग्सेसे पुरस्कार तथा पदमश्री पुरूस्कार तथा 1971 ई. में कनाडियन राष्ट्रीय पुरूस्कार प्रदान किए गए.

1979 ई. में उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ पुरूस्कार ‘नोबेल शांति पुरूस्कार’ तथा 1980 में ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया. 5 सितम्बर 1997 को उनका देहांत हो गया.

दया एवं करुणा की देवी मदर टेरेसा आज हमारे बीच नहीं है. पर, उनकी सेवा भावना संसार के असंख्य लोगों के ह्रृदय में विधमान है. उनका त्याग आज भी अमर हैं.

निष्कर्ष

इस लेख में हमने मदर टेरेसा पर निबंध हिंदी में (Essay on Mother Teresa In Hindi) शेयर किया हुआ है. मुझे उम्मीद है की यह निबंध आप जरुर पसंद करेंगे.


यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो कृपया सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जैसे Facebook, Twitter या Whatsapp पर शेयर जरुर करे. नई पोस्ट की Update के लिए Subscribe करना ना भूले.

आपको ये भी पढ़नी चाहिए 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here